Operation Unicorn: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद ब्रिटेन में ऑपरेशन यूनिकाॅर्न शुरू,लंदन ब्रिज की तैयारी

 
Operation Unicorn

लंदन। स्कॉटलैंड के बाल्मोरल में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद देश में ऑपरेशन यूनिकॉर्न को शुरू कर दिया है। ब्रिटेन अधिकारियों ने रानी की मृत्यु और अंतिम संस्कार के बीच पहले 10 दिनों के दौरान घटनाओं के प्रबंधन करने के लिए ऑपरेशन लंदन ब्रिज तैयार किया। स्कॉटलैंड में रानी के निधन मामले में उन्होंने ऑपरेशन यूनिकॉर्न के बारे में प्लान बनाया था। यह पहले से तय था कि अगर स्कॉटलैंड में महारानी का निधन होता है तो ऑपरेशन का नाम स्कॉटलैंड के राष्ट्रीय पशु के नाम पर होगा। इसके तहत ऑपरेशन के कुछ हिस्सों को पहले सक्रिय कर दिया गया है। ऑपरेशन लंदन ब्रिज के तहत खबर को एंकर ने काले कपड़े पहनकर समाचार पढ़ा। इस बीच, डाउनिंग स्ट्रीट पर राष्ट्रीय ध्वज को पहले आधा झुका दिया गया और राजनेता शोक प्रस्ताव और राजकीय अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू हो गई। शाही परिवार पहले से बाल्मोरल में है और राजा चार्ल्स के अंतिम संस्कार से पहले दिनों में देश के दौरे पर जाने की संभावना है। 

Read also: US North Korea Tension: किम जोंग की अमेरिका को दो टूक, उत्तरी कोरिया परमाणु हथियारों का उपयोग करने में चूकेगा नहीं

द पोलिटिको द्वारा देखे दस्तावेजों के मुताबिक डी-डे घोषित किया जाएगा। अंतिम संस्कार के लिए आने वाले प्रत्येक दिन को उनकी मृत्यु के दसवें दिन तक डी-1, डी-2 के रूप में संदर्भित किया जाएगा। आधिकारिक ज्ञापन के अनुसार रानी की मृत्यु का संदेश देने के लिए कोड लंदन ब्रिज डाउन है, जारी किया है। रिपोर्ट में कहा  है कि भीड़ और यात्रा के दौरान अराजकता को प्रबंधित करने के लिए सुरक्षा अभियान का अनुसरण किया जाएगा। शाही परिवार महारानी के अंतिम संस्कार की योजना की घोषणा करेगा। रानी की मृत्यु के दस दिन बाद ही ब्रिटेन के नवनियुक्त प्रधानमंत्री लिज ट्रस बयान देने वाले सरकारी पहली सदस्य होंगी। पीएम और सरकार के अन्य सदस्यों के बयान के बाद सभी सैल्यूटिंग स्टेशनों पर तोपों की सलामी की व्यवस्था की गई है। इसके बाद, लिज ट्रस नए राजा के साथ जनता के लिए एक जनसभा में किंग चार्ल्स देश को संबोधित करेंगे। महारानी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ वेस्टमिंस्टर एब्बे में होगा। विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में एक कमिटमेंट सर्विस होगी। इसके बाद, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को महल के किंग-जॉर्ज  मेमोरियल चैपल में दफना दिया जाएगा।