Shinzo Abe Murder: शिंजो की हत्या से पूरा जापान स्तब्ध,शांतिप्रिय जापान में पहली बार हुआ ऐसा जघन्य अपराध

 
Shinzo Abe Murder

टोक्यो। जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की शुक्रवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शिंजो की हत्या उस समय की गई जिस समय वो एक चुनावी सभा को संबेधित कर रहे थे। शिंजो आबे को हमलावर ने पीछे से सीने में गोली मारी। घटना के समय शिंजो आबे पश्चिमी जापान के नारा में भाषण दे रहे थे। शिंजो आबे को विमान के जरिए अस्पताल ले जाया गया। लेकिन हृदय गति रुकने के कारण उनकी मृत्यु हो गई। 

पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्‍या से न केवल जापान बल्कि पूरी दुनिया को झकझोर दिया है। बता दें कि जापान एक शां‍तप्रिय और कम अपराध वाले देशों में गिना जाता है। जापान में बंदूक का लाइसेंस लेना इतना आसान नहीं है जितना कि अन्य देशों में। जापान में अधिकांश नागरिक बिना बंदूक के जीवन जीते हैं। जापान में कभी—कभी छुरा घोंपने की घटनाएं सामने आती है। पिछले साल केवल 10 घटनाएं ही अपराध की सामने आई थी। 12.5 करोड़ आबादी वाले जापान में पिछले साल से बंदूक से जुड़े केवल दस मामले सामने आए। इन मामलों में एक ही मौत हुई थी जबकि चार घायल हुए थे। इन दस आपराधिक मामलों में आठ गिरोह से जुड़े थे। टोक्यो में 61 बंदूकें जब्त हुई थीं। राजधानी टोक्यो में एक हाई-प्रोफाइल शूटिंग की वारदात 2019 में हुई थी।

Read also: शिंज़ो आबे हत्याकांड: भारत में राजनीतिक दलों ने अग्निपथ से जोड़ा कनेक्शन

देश में हथियार रखने के अधिकार पर बहस चल रही है। टोक्यो निहोन विश्वविद्यालय में कालेज आफ रिस्क मैनेजमेंट प्रोफेसर शिरो कावामोटो का कहना हैं कि शिंजो आबे की हत्‍या ने लोगों में मायूस किया है। जिस कार्यक्रम में हमला हुआ उसमें भारी भीड़ थी। जिससे सुरक्षा रख पाना एक चुनौती बन गई। जापान में ऐसा हमला असाधारण है। घटना के चलते शिंजो आबे के सुरक्षाकर्मियों को गंभीर सवालों का सामना करना पड़ेगा।