Earthquake In China: चीन में भूकंप से भारी तबाही, 46 लोगों की गई जान

 
Earthquake In China

सिचुआनचीन के प्रात सिचुआन में आए भूकंप से भारी तबाही हो गई है। प्राकृतिक आपदा ने अब तक 46 लोगों की जान चली गई है। भूकंप के झटके इतने तेज थे कि सेकेंड में बहुत कुछ बर्बाद हो गया। यहां इमारतें मलबे में तब्दील हो गईं। भूकंप का केंद्र लुडिंग काउंटी के पास था। रिक्टर स्केल पर भूकंप तीव्रता 6ः8 मापी गई। जगह-जगह चट्टानें टूटकर सड़कों पर गिर गईं। वहीं रिहायशी इलाकों में इमारतों के मलबे के नीचे भी लोग दब गए। रिपोर्ट के मुताबिक गांजी और याआन में फंसे 50 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। इसके अलावा सिचुआन में 6,500 से अधिक बचाव दल और चार हेलीकॉप्टर के अलावा दो मानव रहित हवाई वाहन तैनात भी किए हैं। इसके अलावा फायर ब्रिगेड की 1100 टीमें बचाव कार्य में लगाई हैं। वित्त मंत्रालय और आपातकालीन प्रबंधन मंत्रालय ने बचाव और राहत कार्यों में सहायता के लिए 50 मिलियन युआन की वित्तीय सहायता प्रदान की है। प्रांतीय सरकार ने गांजी को 50 मिलियन युआन आवंटित किए। लुडिंग काउंटी, जहां भूकंप का केंद्र था वहां तीन हजार टेंट और 10 हजार तह बिस्तरों सहित अन्य राहत सामग्री आवंटित की थी।

बता दें कि इससे पहले चीन में 2008 में 8ः2 तीव्रता का भूकंप आया था। जिसने भीषण तबाही मचाई थी। जिसमें 69 हजार से अधिक लोग मारे गए थे। बता दें कि साल 2008 में चीन में धरती हिलने से मौत का तांडव मच गया था। दो मिनट के भीतर चीन में 69 हजार से अधिक लोग मौत की नींद सो गए थे। उस समय भूकंप की तीव्रता 8ः2 थी। इस हादसे में 18 हजार से अधिक लोग मारे गए थे। चीन के सिचुआन प्रांत में आए भूकंप की विनाशकारी लीला को देखते हुए ग्रेट शिचुआन भूकंप नाम दिया है।

Read also: ऋषि सुनक को मिली हार, Liz Truss बनीं ब्रिटेन की अगली प्रधानमंत्री

वहीं एक दूसरी घटना में वहीं दक्षिण कोरिया में टाइफून हिनामनोर उष्णकटिबंधीय चक्रवात के दस्तक देने से हजारों घरों की बिजली गुल हो गई। जिससे 20 हजार से अधिक लोग घर छोड़ने के लिए मजबूर हो गए है। जानकारी के मुताबिक भयंकर बारिश और हवाओं ने पेड़ों और सड़कों को नष्ट कर दिया है। आंतरिक और सुरक्षा मंत्रालय के मुताबिक दक्षिणी शहर उल्सान में बारिश में बहने वाली धारा में गिरने के बाद 25 वर्षीय व्यक्ति लापता हो गया है। इसके अलावा दक्षिणी शहर पोहांग में पोस्को के एक प्रमुख इस्पात संयंत्र में आग लगने की जानकारी भी मिली है।