Earthquake In Nepal: नेपाल में फिर भूकंप से हिली धरती,काठमांडू में घरों से बाहर आए लोग

 
Earth shaken again by earthquake in Nepal

काठमांडू। नेपाल में सुबह 5ः26 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप के झटके काठमांडू तक महसूस किए गए। जिसके बाद लोग अपने घरों से बाहर निकलकर आए गए और काफी देर तक घरों के भीतर नहीं गए। नेपाल में आए भूकंप की रिक्टर स्केल पर तीव्रता 5ः3 बताई जा रही है। राष्ट्रीय भूकंप निगरानी और अनुसंधान केंद्र के मुताबिक भूकंप का केंद्र नेपाल के नुवाकोट जिले के बेलकोटगडी के पास रहा। फिलहाल जानमाल के नुकसान की अभी तक कोई भी जानकारी नहीं मिली है। 
बता दें कि इन दिनों नेपाल में भूकंप के झटके लगातार आ रहे हैं। इससे लोग दहशत में हैं। इससे पहले गत 31 जुलाई को भी नेपाल में भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए थे। उस दौरान नेपाल में आए भूकंप को बिहार तक महसूस किया गया था। बिहार के भी कई जिलों में भूकंप के झटके लोगों ने महसूस किए थे। 

Read also: अमेरिकी राष्ट्रपति निवास White House के पास गिरी आकाशीय बिजली, तीन की दर्दनाक मौत

इससे पहले 31 जुलाई को नेपाल की राजधानी काठमांडू में भूकंप की तीव्रता 5ः5 मापी गई थी। आज जो भूकंप सुबह आया वह भी रिक्टर स्केल पर 5 से अधिक का ही बताया जा रहा है। आज आए भूकंप की तीव्रता इतनी अधिक थी कि इसका असर बिहार के कई जिलों में देखने को मिला है। धरती मुख्य तौर पर चार परतों में बंटी हुई है। इनमें पहली इनर कोर दूसरी आउटर कोर तीसरी मैनटल और चौैथी क्रस्ट है। चौथी परत क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल कोर को लिथोस्फेयर कहा जाता है। ये 50 किलोमीटर की मोटी परत कई भागों में बंटी है। जिसे टैक्टोनिक प्लेट्स कहा जाता हैं। ये टैक्टोनिक प्लेट अपनी जगह पर हिलती रहती हैं और जब इस प्लेट में बहुत अधिक कंपन होता है तो भूकंप के झटके महसूस होते है। भूकंप का केंद्र वह स्थान है जिसके ठीक नीचे प्लेटों में हलचल से धरती हिलती है। इस जगह पर आसपास के क्षेत्रों में भूकंप का असर अधिक होता है। अगर रिक्टर स्केल पर सात या इससे अधिक की तीव्रता वाला भूकंप आता है तो इसके आसपास के 40 किमी के दायरे में इसका असर होता है।