Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन जंग में आए निर्णायक बदलाव,रूसी राष्ट्रपति पर जानलेवा हमला

 
Russia Ukraine War

मास्को। रूस और यूक्रेन जंग अब निर्णायक मोड़ पर पहुंच रही है। वहीं रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन पर जानलेवा हमला किया गया। जिसमें वो बाल-बाल बच गए।  रूस-यूक्रेन युद्ध में पिछले एक सप्ताह में निर्णायक बदलाव आए हैं। यूक्रेनी राष्ट्रपति ने दावा किया है कि सेना ने अब तक 6,000 वर्ग किमी क्षेत्र को रूसी सेना से अपने नियंत्रण में ले लिया है। इसी उत्साह में यूक्रेन ने कहा कि उसने उत्तर-पूर्व में रूसी सेना को खदेड़ने के बाद अपने सभी क्षेत्रों को मुक्त कराने का लक्ष्य तय कर लिया है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए यह एक बड़ा झटका माना जा रहा है। खारकीव में उग्र संघर्ष के बीच यूक्रेनी उप रक्षामंत्री हन्ना मलयार ने फिर से कब्जा किए दक्षिण-पूर्व स्थित बालाक्लिया शहर में कहा कि यूक्रेन की सेना अच्छी प्रगति कर रही है। सेना का ऑपरेशन सुनियोजित है। यूक्रेन दक्षिणी कमान ने कहा कि उसके बलों ने पिछले 24 घंटों में 500 वर्ग किमी क्षेत्र पर फिर से कब्जा किया है। हमले में 59 रूसी सैनिक मारे गए और 20 सैन्य उपकरण नष्ट हो चुके हैं। यूक्रेनी सेना ने सितंबर की शुरुआत से अब तक रूसी सेना को पीछे हटने के लिए मजबूर कर 6,000 वर्ग किमी क्षेत्र पर नियंत्रण हासिल कर लिया है। राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि हमारी सेना तेजी से आगे बढ़ रही है। उन्होंने विमान रोधी रक्षा बलों को इस सफलता पर धन्यवाद कहते हुए पश्चिम से हथियार प्रणालियों की आपूर्ति में तेजी लाने की अपील की।  

वहीं दूसरी ओर रूसी रक्षा मंत्रालय ने लड़ाई को लेकर अपनी दैनिक ब्रीफिंग में कहा कि यूक्रेनी सशस्त्र बलों की इकाइयों पर रॉकेट और तोपखाने के साथ हमले किए जा रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि रूस ने पूवÊ दोनेस्क क्षेत्र में स्लोवियांस्क और कोंस्तेन्तिनोव्का के आसपास यूक्रेनी ठिकानों पर सटीक हमले किए हैं। इस क्षेत्र में मॉस्को सेना 2014 से यूक्रेनी अलगाववादियों पर शासन करती है। अब उसने इन्हीं इलाकों में यूक्रेनी बलों से युद्ध की जानकारी दी है। राष्ट्रपति पुतिन के प्रवक्ता ने कहा कि खारकीव में नागरिकों से अपमानजनक बर्ताव की खबरें मिल रही हैं। यूक्रेनी सेना ने पहली बार दावा किया कि उसने युद्ध के मैदान में रूस द्वारा उपयोग किए गए ईरान के ड्रोन को मार गिराया। अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने कहा था कि ईरान ने रूस को बम ले जाने में सक्षम सैकड़ों ड्रोन भेजने की योजना बनाई ताकि युद्ध में यूक्रेन के खिलाफ इनका उपयोग किया जा सके। यूक्रेनी सेना से जुड़ी वेबसाइट ने ड्रोन के मलबे की तस्वीर प्रकाशित की। इसे कुपियांस्क के नजदीक गिराया गया है।