China Real Estate Crisis: चीन में भारी कर्ज में डूबा रियल एस्टेट कारोबार,घर नहीं मिलने पर लोगों ने दी किश्त नहीं चुकाने की धमकी

 
China Real Estate Crisis

बीजिंग। चीन में मकान खरीदारों ने अब कर्ज चुकाना बंद करने की धमकी दी है। इन सभी की शिकायत है कि कंस्ट्रक्शन परियोजनाओं को समय पर पूरा न कर पाने के कारण अब कर्ज की किश्त चुकाना उन लोगों को बहुत भारी पड़ रहा है। जानकारों की माने तो चीन का रियल एस्टेट सेक्टर तेजी से गहरे संकट में जा रहा है। बिल्डर कर्ज से दबे हुए हैं। जिसके चलते उनमें बहुतों ने प्रोजेक्ट्स पर काम रोक दिया है। जिन पर काम रोका है उनमें से अधिकांश के फ्लैट वे बेच चुके हैं। जो रियल एस्टेट कंपनियां गहरे संकट में हैं। उनमें और शिमाओ,चाइना एवरग्रैंड जैसी दिग्गज कंपनियों शामिल हैं। एवरग्रैंड 300 बिलियन डॉलर के कर्ज में है।

Read also: Kanwar Yatra Update: कांवड़ यात्रा के दौरान किया ये काम तो होगी सख्त कानूनी कार्रवाई,मुख्यमंत्री योगी ने दिए आदेश

जानकारी के मुताबिक 100 से अधिक हाउसिंग कॉम्पलेक्स में घर खरीदने वाले लोगों ने अपनी परेशानी बताने को सोशल मीडिया की मदद ली है। जिसमें उन्होंने कहा है कि जब तक बिल्डर मकान तैयार कर उन्हें नहीं सौंपते हैं वो बैंकों का कर्ज नहीं उतारेंगे। चीन में कर्ज की किश्त नही देने वालों के खिलाफ काफी कड़े कानून हैं। सोशल क्रेडिट नाम के सिस्टम के तहत ऐसा करने वालों के यात्रा करने पर रोक लगाई जाती है।  इसके अलावा उन पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए जाते हैं। अब मकान खरीदार चीन के इस नियम को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं। झेंगझाउ सिटी स्थित युफा बैलुयुवान हाउजिंग डेवलपमेंट में मकान खरीदने वाले लोगों ने सामूहिक बयान सोशल मीडिया पर डाला। जिसमें उन्होंने कहा है  कि जब हमारी जिंदगी ही मुश्किल में है तो सोशल क्रेडिट सिस्टम हमारे लिए महज कागजी शेर है। हमें बंधनों से निकलना होगा और जिन लोगों ने हम सबको लूटा है उन्हें बताना होगा कि हम बलि का बकरा नहीं बन सकते हैं।