चीन है ब्रिटेन के लिए सबसे बड़ा खतरा,भारत और अमेरिका को बना चुका निशाना : सुनक

 
Rishi Sunak

लंदन। ब्रिटेन के पूर्व वित्तमंत्री और प्रधानमंत्री पद के दावेदार ऋषि सुनक ने ब्रिटेन के लिए चीन को सबसे बड़ा खतरा बताया है। सुनक ने कहा कि चीन ब्रिटेन के साथ पूरी दुनिया की सुरक्षा के लिए खतरा है। उसने अमेरिका और भारत जैसे देशों को निशाना बना लिया है। यही सबसे बड़ा सबूत हैं। ऋषि सुनक ने कहा कि वो प्रधानमंत्री बनते हैं तो तकनीकी क्षेत्र में चीन के प्रभाव से बचाव के लिए नाटो की तरह स्वतंत्र राष्ट्रों का एक सैन्य गठबंधन का गठन करेंगे।उन्होंने इस क्षेत्र में कई योजनाएं शुरू करने की बात कही।
कंजर्वेटिव पार्टी नेतृत्व के लिए मुकाबले में भाग ले रहे सुनक ने कहा कि मैं ब्रिटेन में चीन के सभी संस्थानों को बंद कर दूंगा। गौरतलब है कि चीन के कन्फ्यूशियस संस्थान चीनी सरकार द्वारा वित्त पोषित हैं जो संस्कृति-भाषा के केंद्र की तर्ज पर काम करते हैं। पश्चिम और चीन के तनावपूर्ण संबंधों के बीच ये संस्थान प्रचार के साधन हैं। 

Read also: Abbas Ansari: कुख्यात मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास की तलाश में पुलिस की दबिश

भारतीय मूल के सांसद ऋषि सुनक ने कहा कि चीन और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ब्रिटेन और दुनिया की सुरक्षा और समृद्धि के लिए बड़ा खतरा हैं। चीन की तरफ से साइबर खतरों से निपटने के लिए वो स्वतंत्र राष्ट्रों का नया अंतरराष्ट्रीय गठबंधन बनाएंगे। इसके अलावा प्रौद्योगिकी सुरक्षा में बेहतरीन तौर-तरीके साझा करेंगे। ऋषि सुनक ने प्रचार अभियान के दौरान कहा कि नए सुरक्षा गठबंधन के तहत ब्रिटेन साइबर सुरक्षा, दूरसंचार और बौद्धिक संपदा की चोरी को रोकने पर अंतरराष्ट्रीय मानकों को लागू करने का प्रयास करेंगे। नार्थ यॉर्कशायर में रिचमंड सांसद सुनक ने चीन पर ब्रिटेन प्रौद्योगिकी को चुराने और विश्वविद्यालयों में पैठ बनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चीन यूक्रेन में हमलों में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ है। शिनजियांग और हांगकांग में मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। वैश्विक अर्थव्यवस्था को अपने तरफ करने का प्रयास कर रहा है।