China-Taiwan: चीन ने की ताइवान की घेराबंदी तेज, विमान वाहक पोत युद्ध अभ्यास में जुटा

 
China-Taiwan:

ताइवान। चीन अब ताइवान की घेराबंदी में तेजी से जुट गया है। इसी क्रम में चीन ने एक विमानवाहक पोत ने दक्षिण सागर में युद्ध अभ्यास शुरू कर दिया है। इस युद्ध अभ्यास के बाद परमाणु पनडुब्बी सहित नौसैनिक जहाजों का एक ग्रुप शामिल था। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ‘पीएलए’ की नौसेना दूसरा विमानवाहक पोत शानदोंग ने हाल में दक्षिण चीन सागर में व्यापक युद्ध अभ्यास किया था। शानदोंग चीन का पहला घरेलू निर्मित विमानवाहक पोत है। राज्य संचालित ग्लोबल टाइम्स ने विश्लेषकों के हवाले से कहा कि यह दिखाता है कि विमानवाहक समुद्र के ऑपरेशन के लिए तैयार हो रहा है।  पीएलए की साउथ फ्लीट की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा कि शानदोंग ने दक्षिण चीन सागर में एक अज्ञात क्षेत्र में रियलिस्टिक कौम्बेट-ओरिएंटेड एक्सरसाइज की। जिससे कि बल की लड़ाकू क्षमताओं का व्यापक परीक्षण का पता किया जा सके। 

Read also: Breaking News: भारत और रूस की नजदीकियों से चिंतित अमेरिका अपनी विदेश नीति को संतुलित करने की तैयारी में

बताया गया है कि अभ्यास के दौरान शानदोंग ने फाइटर जेट जे-15 के टेकऑफ और लैंडिंग ऑपरेशन की मेजबानी की। समुद्र संचालन में पुनः पूर्ति संचालन का अभ्यास भी किया। दक्षिण चीन सागर में चीन ने अपने लड़ाकू समूह के साथ शानदोंग का अभ्यास ऐसे समय में शुरू किया है जबकि अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की हालिया ताइवान यात्रा से लगातार तनाव बनता जा रहा है। इसी के मददेनजर चीन, ताइवान को घेरने के लिए युद्ध अभ्यास कर रहा है। पेलोसी बीते पच्चीस साल में ताइवान की यात्रा करने वाली शीर्ष अमेरिकी अधिकारी हैं। पेलोसी की यात्रा के बाद से क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी है।  युद्ध अभ्यास करने वाले विमानवाहक पोत पर रिपोर्ट तब है। जब पेलोसी के हाईलेवल दौरे के बाद अमेरिकी सांसदों ने ताइवान का दौरा करना शुरू कर दिया। अमेरिकी सांसद मार्शा ब्लैकबर्न ने ताइपे का दौरा किया और ताइवान की राष्ट्रपति साइइंगवेन से मुलाकात कर सुरक्षा के हालातों के बारे में चर्चा की।