China Covid lockdown: शिनजियांग में लॉकडाउन, भोजन और महिलाओं के लिए सैनिटरी पैड की भारी कमी

 
China Covid lockdown fo

शिनजियांग। चीन के शिनजियांग प्रांत में एक बार फिर से लोग घरों में कैद कर दिए गए हैं। इस शहर में चीनी सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन लगा दिया है। लोग कठोर और सप्ताह भर चलने वाले कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के कारण खाने के अलावा अन्य चीजों की कमी से जूझ रहे हैं। शिनजियांग क्षेत्र में कोरोना महामारी के तहत एक महीने तक चलने वाले इस लॉकडाउन के कारण भोजन, दवा और अन्य महत्वपूर्ण आपूर्ति की भारी कमी हो गई। यहां के निवासियों ने भोजन के सीमित विकल्प के अलावा दवाइयां मिलने में हो रही कठिनाई और महिलाओं के लिए सैनिटरी पैड की भारी कमी के चलते परेशानी हो रही है। लोगों ने मदद का आह्वान किया है।

अगस्त की शुरुआत से छह लाख की आबादी वाले इस शहर में लोगों को घरों में रहने के निर्देश दिए हैं। जिससे कई लोगों को जरूरत का सामान के लिए बड़े पैमाने पर पड़ोस पर निर्भर रहने के लिए मजबूर होना पड़ा है। इनमें से कुछ निवासियों ने कहा कि खाने से संबंधित सामान की पूर्ति को कम कर दिया है। उन्हें भोजन के रूप में मात्र चावल, नान या नूडल्स मिल रहा है। आजाद नाम के एक निवासी ने बताया कि दो सप्ताह तक उसे नूडल्स के अलावा कुछ नहीं मिला। इसे अब दिन में दो बार से अधिक नहीं खा सकते। उन्होंने कहा कि यह पाचन तंत्र को खराब कर रहा है। इससे पहले लॉकडाउन में कम से कम चावल और नान तो मिलता था।

महिलाओं ने फोन पर कहा कि वे सैनिटरी पैड प्राप्त करने में असमर्थ हैं। जिससे बहुत कठिनाई हो रही है। मदीना नाम की महिला ने बताया कि पैसा समस्या नहीं है। उसने कहा कि महिला स्वच्छता उत्पादों और डायपर आइटम अक्सर आधिकारिक आपूर्ति स्टेशनों पर नहीं होते हैं और अगर ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं, तो वे बहुत जल्दी बिक जाते हैं। निवासियों ने ऑनलाइन और सरकार को लिखे पत्रों में गंदी क्वारंटीन सुविधाओं, आइसोलेशन अराजक प्रवर्तन और बुजुर्ग को उनके घरों से चिकित्सा अवलोकन के लिए ले जाने के बारे में शिकायतें की हैं। हालांकि अधिकारियों ने विफलताओं को स्वीकार कर लोगों की बढ़ती हताशा को दूर करने की कोशिश की है। पिछले हफ्ते, उन्होंने बताया कि अफवाहों में कोई सच्चाई नहीं है। एक वृद्ध निवासी ने गंभीर भूख से पीड़ित होने के बाद खुद फांसी लगा ली थी। स्थानीय जानकारों ने बताया कि अधिकारियों से आग्रह किया कि वे नाराज निवासियों से बचने के लिए अधिक काम करें।