Russia Ukraine Crisis: रूस की दागी मिसाइलों से 24 यूक्रेनी नागरिकों की मौत

 
Russia Ukraine Crisis

कीव। रूस-यूक्रेन युद्ध में रूसी सेना ने यूक्रेनी के खारकीव शहर पर भीषण गोलाबारी की है। जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई है और 28 घायल हो गए हैं। दोनेस्क क्षेत्र की इमारत पर रूसी रॉकेट हमले में मरने वालों की संख्या अब 15 से बढ़कर 24 हो गई है। यूक्रेन ने रुस के इन हमलों को पूरी तरह से आतंकवाद करार दिया। खारकीव क्षेत्रीय गवर्नर ओलेह सिनेहबोव ने कहा कि रुस जिस तरह से खारकीव पर हमले कर रहा है। वह पूरी तरह आतंकवाद है। अमेरिकी अधिकारी ने दावा किया कि रूस खारकीव में यूक्रेन से अलग नई सार्वजनिक प्रणाली बनाने की फिराक में है। इन इलाकों में खारकीव का अलग झंडा फहराया जाता है।

यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी क्षेत्र के दोनेस्क,लुहांस्क,  खेरसॉन और मैरियूपोल सिटी पर रूसी सेना पहले से अपना कब्जा कर चुकी है। खारकीव के गवर्नर ने कहा कि रूसी सेना पूर्वोत्तर शहर पर मिसाइलें दाग रही है। इन मिसाइलों में सिर्फ नागरिक ठिकानों को निशाना बनाया जा रहा है। इन मिसाइल ने एक स्कूल को पूरी तरह से नष्ट कर दिया है। दूसरी मिसाइल से आवासीय भवन तबाह हुआ है और तीसरी मिसाइल ने एक गोदाम को ध्वस्त किया है। रूस-यूक्रेन युद्ध नतीजे काफी भयावह सामने आ रहे हैं। इनसे सांस्कृतिक और कलात्मक केंद्र खतरे में हैं। पुस्तकालय, दीर्घाएं, संग्रहालय, अभिलेखागार  और विश्वविद्यालय शामिल हैं। युद्ध में रूस सेना ने यूक्रेन के सांस्कृतिक व कला केंद्रों को नष्ट कर दिया। कीव के मैडन संग्रहालय के सामान्य निदेशक इहोर पोशीवेलो ने विश्व से पुतिन के इस कृत्य का मुकाबला करने की अपील की।

Read also: Heavy Rain Weather Update: बारिश और बाढ़ से आई प्राकृतिक आपदा से गुजरात में 63 और महाराष्ट्र में 76 लोगों की मौत

रूस अपने कब्जे वाले यूक्रेन के दक्षिणी क्षेत्र के स्कूलों को फिर से खोल रहा है। इनमें रूस समर्थक कोर्स शुरू किया है। खेरसॉन और जापोरिझिया क्षेत्रों में रहने वाले परिजनों को धमकी दी है कि यदि वे रूसी पासपोर्ट नहीं लेते और बच्चों को रूस समर्थक स्कूलों में नहीं भेजते हैं तो उनके संबंधी अधिकार छीन लिए जाएंगे। शिक्षकों व परिजनों का कहना है कि इन स्कूलों के साथ सहयोग के लिए उन्हें रूस उनको ब्लैककमेल कर रहा है।