Tunnel Parking Uttarakhand: हिल स्टेशनों पर दूर होगी पार्किग की समस्या, टनल पार्किग को धामी सरकार की हरी झंडी

 
Tunnel Parking Uttarakhand

उत्तराखंड में पर्यटन की संभावना असीम हैं इसी कारण से यहां के इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी कको दूर करने के लिए लगातार बहस होती रहती है। अब इस मामले में पहाड़ को बड़ी सौगात मिलने जा रही है। अब उत्तराखंड के हिल स्टेशनों को अंडरग्राउंड टनल पार्किंग बनाई जाएगी। ये टनल पार्किग वहां पर बनेगी जहां पर बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। जिस पर्यटन स्थलों पर जाम और पार्किंग की समस्या होती है। इसके अलावा केवल पर्यटकों बल्कि स्थानीय लोगों के साथ प्रशासन को परेशानियों का सामना करना होता है। अत्याधुनिक तकनीक से बनने वाली इस नई तरह की पार्किंग के मामले में दावा किया है कि इससे उत्तराखंड देश का पहला ऐसा राज्य होगा। जहां पर इस तरह की अनोखी पार्किंग व्यवस्था होगी।

Read also: Dehradun Mussoorie Ropeway: देहरादून से मसूरी मात्र 15 मिनट में,बनेगा एशिया का सबसे लंबा रोपवे

उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी सरकार को बीते साल टीएचडीसी ने अंडरग्राउंड टनल पार्किंग बनाने का प्रस्ताव सुझाया था। जिस पर अब कैबिनेट ने मुहर लगाई है। अब टीएचडीसी और अन्य कंपनियां साथ में मिलकर हिल स्टेशनों पर पार्किंग की समस्या को दूर करने के प्रोजेक्ट पर काम करेगी। टीएचडीसी के सीएमडी राजीव बिश्नोई ने जानकारी दी कि जल्द ही  मसूरी,नैनीताल के अलावा अन्य पर्यटन स्थलों पर अंडरग्राउंड पार्किंग का काम शुरू किया जाएगा। इससे पर्यटकों को जाम से मुक्ति तो मिलेगी ही इसी के साथ अत्याधुनिक पार्किंग की सुविधा भी मिलेगी। उत्तराखंड के मुख्य सचिव एसएस संधू ने बताया कि पहाड़ों में छोटी टनल्स को पार्किंग के तौर पर उपयोग में लाया जाएगा। यह प्रस्ताव लोक निर्माण विभाग द्वारा रखा था। जिसे धामी सरकार की बुधवार को कैबिनेट बैठक में मंज़ूरी मिली है। संधू ने बताया कि टनल्स के निर्माण को रेल विकास निगम लिमिटेड,उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड,  टिहरी हाइड्रो पावर डेवलपमेंट काॅरपोरेशन जैसी संस्थाएं मिलकर काम करेंगी।