Raksha Bandhan 2022 Date: इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा का साया,12 अगस्त को भी ब्रहम मुहूर्त में बांध सकेंगीं बहने भाईयों की कलाई पर राखी

 
Raksha Bandhan 2022 Date

रक्षाबंधन भाई-बहन के आपसी प्रेम का त्योहार है। बहनें भाइयों की कलाई पर राखियां बांधकर उनके जीवन में सुख-समृद्धि की कामना करती हैं। इस साल रक्षाबंधन पर भद्रा योग का साया है। 11 अगस्त को रक्षाबंधन पर भाइयों की कलाई पर राखी बांधने का करीब एक घंटे और 12 अगस्त को ब्रह्म मुहूर्त में तड़के मात्र 48 मिनट का ही मुहूर्त है। पंचाग के अनुसार राखी हमेशा शुभ मुहूर्त पर ही बांधी जानी चाहिए। रक्षाबंधन के दिन भद्राकाल का विशेष ध्यान रखा जाता है। भद्राकाल का साया रहने पर राखी नहीं बांधी जाती है। शास्त्रों में भद्राकाल के समय को अशुभ माना गया है।

Read also: 11 अगस्त को मनाया जाएगा रक्षाबंधन पर्व ,जानिए शुभ मुहूर्त और वैदिक राखी का महत्व

भारतीय ज्योतिषाचार्य के अनुसार रक्षाबंधन, दीपावली पूजन, होलिका दहन मेंू विशेष रूप से भद्रा का ध्यान रखा जाता है। इसलिए 11 अगस्त को रक्षाबंधन पर भाई की कलाई में राखी बांधने का शुभ मुहूर्त शाम को 8.50 बजे से 9.50 तक ही है। क्योंकि पूरे दिन भद्रा रहेगी। भद्रा में रक्षाबंधन नहीं होता है। 12 अगस्त को पूर्णिमा एक घंटे के लिए ही रहेगी। किसी त्योहार को मानने के लिए करीब तीन घंटे तक वह तिथि होनी चाहिए जो 12 को नहीं होगी। इसलिए 11 अगस्त को प्रदोष काल में राखी बंधन होगा। लेकिन 12 अगस्त को ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 4.29 बजे से 5.17 बजे तक राखी बांधने का मुहूर्त रहेगा। शुक्ल यजुर्वेद ब्रह्मण 11 तारीख को दिनभर रक्षा अनुसंधान कर सकेंगे।