Site icon Buziness Bytes Hindi

Byju’s News: बायजू पर लेंडर्स का बड़ा आरोप, कंपनी ने ‘रेस्तरां’ में छिपाए 53.3 करोड़ डॉलर

t1301 11

Byju’s News: लेंडर्स ने आरोप लगाया है कि Byju’s ने तीन साल पुराने एक हेज फंड में 53.3 करोड़ डॉलर छिपाए थे। देश की एडुटेक स्टार्टअप कंपनी बायजू (Byju’s) पर लेंडर्स ने आरोप लगाया कि कंपनी ने कथित तौर पर तीन साल पुराने अनजान हेज फंड में 53.3 करोड़ डॉलर छिपाए थे।

मियामी-डेड काउंटी (Miami-Dade County) कोर्ट में फाइल दस्तावेज के मुताबिक, कुछ लोनदाताओं ने मुकदमे में आरोप लगाया कि बायजू ने विलियम सी. मॉर्टन द्वारा स्थापित निवेश फर्म Camshaft Capital Fund फंड को पिछले साल करोड़ों डॉलर ट्रांसफर किए। इस इनवेस्टमेंट फर्म को विलियम सी मॉर्टन ने 23 साल की उम्र में शुरू किया। इस प्रकार से उसे निवेश का खास प्रशिक्षण नहीं था। इसके अलावा अपने पैसों को वापस पाने में लगे लेंडर्स के अनुसार फंड ने दावा किया था कि इसका मुख्य कारोबार मियामी में IHOP पैनकेक रेस्तरां का है।

रिपोर्ट में कहा है कि ऋणदाताओं ने कहा है कि निवेश में औपचारिक प्रशिक्षण की कमी के बावजूद मॉर्टन के फंड को पैसा मिला था। अदालत में जमा दस्तावेजों के मुताबिक, बायजू ने जब पैसे भेजे थे। उसके बाद से अब तक लक्जरी कारें–2023 फेरारी रोमा, एक 2020 लेम्बोर्गिनी हुराकैन ईवीओ और एक 2014 रोल्स-रॉयस व्रेथ–मॉर्टन के नाम पर रजिस्टर्ड हैं।

बायजू ने छिपाए लेंडर्स के रुपए

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका की मियामी-डेड काउंटी अदालत में कर्जदाताओं की दलील है कि बायजू ने इस हेज फंड में 53.3 करोड़ डॉलर राशि कर्जदाताओं के प्रयासों को नाकाम करने के लिए हस्तांतरित की थी। मियामी-डेड काउंटी अदालत की फाइलिंग में लेंडर्स ने तर्क दिया कि लेनदारों को बाधा पहुंचाने और देरी करने के स्वीकृत उद्देश्य के लिए बायजू ने उधारकर्ता के 533 मिलियन डॉलर के ठिकाने को छिपाने के लिए प्रयास किए हैं।

बायजू स्पोक्सपर्सन ने कही ये बात

बायजू प्रवक्ता ने आज बुधवार को कहा कि किसी दूसरे बड़े कॉरपोरेट संगठन की तरह बायजू की इकाई अल्फा ने अरबों डॉलर के निवेश कोष में निवेश किया है। हमारे लोन समझौते में आवंटित कर्ज राशि के हस्तांतरण या निवेश पर किसी तरह की रोक नहीं। ऐसे में बायजू को जमानत के तौर पर कोई राशि रखने की जरूरत नहीं है।

कंपनी ने कहा कि इस साल जून 2023 में डेलावेयर अदालत के फैसले ने प्रश्नगत राशि के संबंध में जानकारी के लिए लोनदाताओं के आवेदन को खारिज कर दिया। जो कि टीएलबी (टर्म लोन B) के तहत उधार लेने वाली इकाई बायजू अल्फा द्वारा प्राप्त धन का पार्ट है।

Exit mobile version