depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Home Loan लेने से पहले जान ले फ्लोटिंग रेट और फिक्सड रेट के बारे में

बिज़नेसHome Loan लेने से पहले जान ले फ्लोटिंग रेट और फिक्सड रेट...

Date:

नई दिल्ली। अपना घर बनाने का सपना सबका है। आज कल आसान तरीकों से होम लोन की सुविधा मिल जाती है। होम लोन के जरिये अपने सपनों का घर बना पाते हैं। लेकिन होम लोन लेते समय हमें इससे जुड़ी कई तरह की बातें जान लेनी चाहिये।

बता दें कि होम लोन लेने के बाद लंबे समय तक ब्याज देना होता है। ऐसे में हमें इससे जुड़े ब्याज चुकाने के मोड के बारे में जान लेना चाहिये। आज हम आपको होम लोन से जुड़े ब्याज चुकाने के मोड फ्लोटिंग रेट और फिक्स्ड रेट के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

क्या होता है फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट

फ्लोटिंग रेट लोन का अर्थ होता है जिस पर रेपो रेट या मार्केट की ब्याज दर का असर पड़ता है। बता दें कि अगर रिजर्व बैंक रेपो रेट में बदलाव करता है तो फ्लोटिंग रेट में भी बदलाव देखने को मिलता है। अगर आप इस तरह का लोन लेते हैं तो रेपो रेट बढ़ने से इस ब्याज की दर भी बढ़ेगी।

इसी के साथ ही अगर रेपो घटता है तो ब्याज दर भी घटेगी। वहीं इसमें यह अहम बदलाव एक फिक्स समय में होता है। जहां हो सकता है कि यह 3 महीने में एक बार हो। दूसरी ओर यह बैंक द्वारा तय किये गये नियम पर भी निर्भर करता है कि अगर ब्याज दर बदलती है तो ईएमआई बढ़ेगी या लोन की अवधि।

फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट लोन

फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट लोन लेने से पहले ब्याज की एक दर निश्चित कर दी जाती है। जिसमें पता होगा कि आपकी ईएमआई कितनी है। अगर फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट लोन को लेते हैं तो लोन चुकाने की पूरी अवधि में कितनी ईएमआई आयेगी। इसके बारे में पता होगा। बता दें कि मार्केट का इंटरेस्ट रेट यानी रेपो रेट कुछ भी हो होम लोन के ब्याज की दर पर कोई अंतर नहीं आयेगा। वहीं इसके जरिये पहले अपनी ईएमआई की गणना कर सकते हैं

दोनों में खास अंतर

फ्लोटिंग रेट होम लोन की ब्याज दर भविष्य में कभी भी बढ़.घट सकती हैं जो रिजर्व बैंक की ओर से तय रेपो रेट पर निर्भर करता है। वहीं अगर आप ऐसे में फिक्स्ड रेट पर होम लोन लेते हैं तो ब्याज दर आगे कम होने पर आपको अधिक लाभ नहीं मिलेगा।

अगर लोन लेते वक्त लगे कि ब्याज की दर कम है तो फिक्स्ड रेट होम लोन को ले सकते हैं। जिससे कम ब्याज पर उधार मिल जायेगा। इसके साथ ही पूरी अवधि में कम ब्याज चुकाना होगा। वहीं लगता है कि आगे के समय में रेपो दर में उठापटक हो सकती है तो फिर फ्लोटिंग रेट होम लोन लेना चाहिये।

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

हेल्थ इन्शुरन्स पर IRDAI ने उठाया बड़ा कदम

बीमा नियामक IRDAI ने स्वास्थ्य बीमा खरीदने के लिए...

आईपीएल में टूटते रिकार्डों पर उठते सवाल

अमित बिश्नोईआईपीएल 2024 में जिस तरह बल्लेबाज़ी के सारे...

अलीगढ़ में अखिलेश, भाजपा के लिए विशेष ताला बनाने की अपील

अलीगढ में आज एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते...