Site icon Buziness Bytes Hindi

ससुराल और मायका है पास-पास तो रिश्तों को कैसे संभाले , जानिए

आज के समय में माता-पिता बेटियों की शादी को ज्यादा दूर तक ले जाना पसंद नहीं करते, ताकि जरूरत के समय वह कभी अकेली न रहें। उनकी चिंता भी बिल्कुल सही है. लेकिन कहीं न कहीं ये चीज एक समय के बाद लड़कियों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है। मायके और ससुराल के रिश्ते को एक साथ निभाते -निभाते इतना थक जाती है कि वो अपनी शादी को सही से संभाल ही नहीं पाती हैं।

इसमें कोई शक नहीं कि यह स्थिति किसी भी लड़की के लिए विसंगति से भरी होती है। लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखकर दोनों जगहों के रिश्ते को आसानी से संभाला जा सकता है। यहां हम आपके साथ ऐसी ही कुछ जरूरी बातें शेयर कर रहे हैं।

मायके में ससुराल वालों की बुराई न करें

अगर आपको अपने ससुराल वालों का कोई व्यवहार या बात पसंद नहीं है तो उनकी कड़वाहट अपने मायके में न ले जाएं। क्योंकि शुरुआती दिनों में भले ही मम्मी -पापा आपकी तरफ से आपके सास-ससुर को कुछ बातें कहें, लेकिन समय बीतने के साथ-साथ वे भी आपकी वजह से आपसे मिलने से कतराने की कोशिश करेंगे। शिकायत करने की आदत. साथ ही ससुराल वालो को अपना न समझना ।

हर छोटी-छोटी बात पर मायके न जाएं

पास में मायका होने का सबसे बड़ा नुकसान और फायदा यह है कि आप वहां कभी भी जा सकती हैं। लेकिन ऐसा करने की गलती न करें.

खासतौर पर तब जब ससुराल में किसी से मनमुटाव हो। इससे रिश्ते खराब होने लगते हैं। साथ ही लड़की के ऐसा करने पर ससुराल और मायके के लोग भी बार-बार एक-दूसरे से झगड़ते रहते हैं।

मायके वालों को बार-बार ससुराल न बुलाएं

लड़की के माता-पिता अक्सर उसे सास-ससुर से पूछे बिना मायके न आने की सलाह देते हैं। ऐसे में जब लड़की को अपने ससुराल वालों से इजाजत नहीं मिलती तो वह किसी न किसी बहाने से अपने घर वालो को ससुराल बुलाने की कोशिश करती है।

लेकिन आपको ये ध्यान रखना चाहिए , हो सकता है आपके ससुराल वालों को ये बात अच्छी न लगे . साथ ही यह आपके नए घर के लिए भी अच्छा नहीं है। क्योंकि हो सकता है कि आपके भाई-बहन आपको ऐसा करने से रोकें और आपकी चिंता करते हुए आपको दस टिप्स दें। ऐसे में आप कभी भी अपने ससुराल वालों को अपना नहीं पाएंगी.

अपने ससुराल वालों को अधिक समय दें

अगर आप शादी के बाद अपने ससुराल वालों के साथ रह रही हैं तो यह आपकी जिम्मेदारी है कि आप उन्हें समझने की कोशिश करें। उनके साथ अपने रिश्ते मधुर रखें तभी ससुराल और मायके दोनों खुश रहेंगे।

अपने माता-पिता को उन चीज़ों से परेशान न करें जिन्हें आप स्वयं संभाल सकते हैं, और यह तभी संभव है जब आप अपने ससुराल वालों को समझें।

Exit mobile version