Site icon Buziness Bytes Hindi

Historical innings: ब्रेसवेल की पारी ने मैच को बनाया यादगार, फिर भी भारत को मिली जीत

gill

आज भारत और न्यूज़ीलैण्ड के बीच ODI श्रृंखला का जो पहला मैच खेला गया, उसी तरह के रोमांचक मैच ही वो वजह है कि लोग इस खेल के दीवाने हैं. लोगों को शुभमन गिल के दोहरे सैकड़े की जितनी ख़ुशी हुई शायद उससे ज़्यादा बढ़कर ख़ुशी माइकल ब्रेसवेल के 140 रनों की पारी की हुई. यह इस पारी का ही कमाल था जो एक नीरस मैच इतना रोमांचक हुआ कि एक समय भारत की हार के बारे में लोग सोचने लगे. बहरहाल ब्रेसवेल की ज़बरदस्त पारी के बावजूद भी भारत को 349 रन बनाकर भी महज़ 12 रनों से जीत मिल गयी और तीन मैचों की श्रंखला में उसे 1-0 की बढ़त भी.

वन मैन आर्मी बन गए ब्रेसवेल

ब्रेसवेल की इस पारी की जितनी भी तारीफ की जाय कम होगी क्योंकि वो वन मैन आर्मी के रूप में भारतीय गेंदबाज़ो से आखरी ओवर तक लड़ते रहे. भले ही वो अंतिम मोर्चे पर जाकर धराशायी हो गए मगर उन्होंने हथियार छोड़कर हाथ नहीं खड़े किये। न्यूज़ीलैण्ड का एक समय स्कोर 6 विकेट पर 131 रन हो गया था, 29 ओवर भी हो चुके थे ऐसे में भारत की एक और बड़ी जीत सामने साफ़ नज़र आ रही थी मगर ब्रेसवेल और मिचेल सेंटनेर की जोड़ी के इरादे कुछ और थे. भारतीय टीम भी रिलैक्स हो गयी थी कि अब तो मैदान मार लिया लेकिन न्यूज़ीलैण्ड के इन दोनों स्पिन आलराउंडर्स ने इसके बाद जो बल्लेबाज़ी की वह बरसों तक याद रहेगी। दोनों के बीच 162 रनों की पार्टनरशिप हुई वह भी सिर्फ 17 ओवरों में.

सिराज बने सरताज

इस मौके पर भारत के लिए खतरा पैदा हो चूका था लेकिन यहाँ पर आज के सबसे कामयाब गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज एकबार फिर टीम इंडिया की मदद को आगे और इस खतरनाक होती जा रही जोड़ी को उन्होंने तोडा। 293 के स्कोर पर सेंटनेर 57 रनों की बहुत उपयोगी पारी खेलकर आउट हो गए. सिराज ने इसके फ़ौरन बाद ही शिप्ली को शून्य पर चलता कर कीवी टीम को आठवाँ झटका दिया। लगा अब बाज़ी पूरी तरह हाथ में आ गयी है लेकिन ब्रेसवेल लगातार खतरनाक होते जा रहे थे, फर्गुसन के साथ भी उन्होंने 34 रनों की साझेदारी कर डाली, स्कोर 328 तक पहुँच गया, यहाँ पर अबतक काफी मंहगे रहे हार्दिक पंड्या ने आकर फर्गुसन का विकेट हासिल कर लिया। न्यूज़ीलैण्ड को अंतिम दो ओवर में 24 रन चाहिए थे और 49वे ओवर में हार्दिक ने न सिर्फ चार रन ही दिए बल्कि एक विकेट भी हासिल किया।

हारते हारते बची टीम इंडिया

अंतिम ओवर में 20 रनों की ज़रुरत थी. शार्दुल के ओवर की पहली ही गेंद पर छक्का जड़ ब्रेसवेल ने मैच को और नज़दीकी बना दिया, दूसरी गेंद वाइड हो गयी और इसके बाद वाली गेंद पर ब्रेसवेल पगबाधा हो गए. इस तरह भारत के हाथ से मैच फिसलते फिसलते रह गया. ब्रेसवेल ने शानदार 140 रन बनाये जिसमें 10 छक्के और 12 चौके शामिल थे. मोहम्मद सिराज ने इस बड़े स्कोर वाले मैच में कमाल की गेंदबाज़ी की. अपने घरेलु मैदान पर अपने परिवार के सामने उन्होंने मैच जिताऊ गेंदबाज़ी करते हुए 10 ओवरों में 46 रन देकर चार बड़े विकेट हासिल किये।

शुभमन ने जड़ा यादगार दोहरा शतक

इससे पहले भारत ने शुभमन गिल के ऐतिहासिक दोहरे शतक की मदद से आठ विकेट पर 349 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। शुभमन ने भी टीम इंडिया के लिए अकेले दम पर बल्लेबाज़ी की वरना और कोई भी बल्लेबाज़ अर्ध शतक भी न लगा सका. रोहित शर्मा 34, सूर्यकुमार यादव 31 और हार्दिक पांड्या ने 28 रनों की पारी खेली। कीवी टीम के लिए हेनरी शिप्ली और डेरिल मिचेल ने दो दो विकेट हासिल किये। इस पहले मैच के बाद यह साफ़ हो गया है कि श्रंखला में रोमांचक क्रिकेट देखने को मिलेगी। शुभमन गिल को प्लेयर ऑफ़ दि मैच घोषित किया गया है.

Exit mobile version