Health Department: डेंगू,मलेरिया से निपटने को स्वास्थ्य विभाग ने बनाया ये प्लान,जानकर हो जाएंगे हैरान

 
dengu

हल्द्वानी। मानसून के इस दौर में बारिश आफत बनकर टूट रही है। ऐसे मौसम में मच्छर जनित रोगों का खतरा भी अधिक बढ़ गया है। बरसात के मौसम में जगह—जगह पानी का जमाव और गंदगी  से मच्छर जनित रोग डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया के संक्रमण का खतरा काफी बढ़ रहा है। घरों के अंदर और बाहर छतों पर रखे बर्तन आदि में पानी का जमाव नहीं होने देना चाहिए। हल्द्वानी शहर में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश के चलते चारों ओर जलजमाव के हालात पैदा बने हुए हैं। जिसके बाद शहर में डेंगू-मलेरिया का खतरा काफी बढ़ा हुआ है। 

Read also: Uttarakhand News: पेड़ों की कटाई पर उत्तराखंड हाईकोर्ट की सुस्ती से सुप्रीम कोर्ट नाराज,सुनवाई में तेजी लाने के निर्देश

हल्द्वानी में लगातार बारिश हो रही है। जिससे भारी बारिश से शहर में जलभराव हो गया है। स्वास्थ्य विभाग ने जलजमाव से डेंगू-मलेरिया का खतरे के मददेनजर लोगों को साफ सफाई और जलजमाव नहीं होने देने की बात कही है। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपील की है कि वह बरसात का पानी घरों के आसपास इकट्ठा न होने दें। अगर किसी को बुखार के लक्षण हैं, तो जरूर डॉक्टर से परामर्श लें। डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचने के लिए घरों के पास पानी और गंदगी को बिल्कुल भी नहीं होने दे। अगर घरों के आसपास पानी इकट्ठा नहीं होगा और गंदगी नहीं होगी तो डेंगू-मलेरिया जैसी बीमारियों से बचा जा सकता है। शहर में डेंगू-मलेरिया के बढ़ते खतरे पर नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय का कहना है कि शहर में लगातार सफाई अभियान चलाया जा रहा है. हल्द्वानी में डेंगू-मलेरिया न हो इसके लिए मानसून के बाद पूरे शहर में फॉगिंग कराई जाएगी। बेस अस्पताल की डॉक्टर विनीता ने बताया कि बरसात में अपनी सेहत का ध्यान जरूर रखना चाहिए। बारिश में न भीगें और घरों के आसपास पानी भी एकत्र नहीं होने देना चाहिए। गंदगी को भी दूर रखें। आमतौर पर फुल बाजू के कपड़े पहने और बरसात में जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलें।