दिल का दौरा कब पड़ेगा बताएगी Artificial Intelligence

 
Artificial Intelligence

नई दिल्ली। अब दिल का दौरा कब पड़ेगा इसके बारे में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी समय से पहले जानकारी देगी। ऐसा दावा शोधकर्ताओं ने किया है। शोधकर्ताओं ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) आधारित एक  तकनीक विकसित की है जो दिल के रोगों के बारे में पहले से जानकारी देगी। इससे दिल के दौरे को टाल सकेगा। हाल में हुई एक रिसर्च के आधार पर शोधकर्ताओं ने कहा कि इस एआई की मदद से हृदय की धमनियों में किसी तरह की रुकावट या थक्का जमने का पता चल सकेगा।  नई तकनीक ऑप्टिकल कोहरेंस टोमोग्राफी(ओसीटी) का उपयोग दिल की धमनियों की सेहत की जांच के लिए किया जाएगा। जांच इस लिहाज से महत्वपूर्ण है। धमनियों को हुआ नुकसान दिल के दौरे की वजह बन सकता है। चीनी यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रॉनिक साइंट एंड टेक्नोलॉजी में रिसर्चर झाओ ने बताया कि अगर कोलेस्ट्रॉल प्लॉक लाइनिंग के चलते धमनियों को नुकसान पहुंचता है तो हृदय में पहुंचने वाले खून का प्रवाह अचानक कम हो जाता है। जो आगे चलकर ‘अक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम’ का कारण बन सकता है। 

Read also: Monkey Pox Virus: मेक्सिकों में मिले मंकी पॉक्स के 60 संक्रमित,तेजी से बढ़ रहा संक्रमण का दायरा

ओसीटी एक ऑप्टिकल इमेजिंग टेक्नालाजी है। इसका उपयोग खून नसों और कोरोनरी धमनियों की 3—डी फोटो तैयार करने के लिए होता है। झाओ वांग ने बताया कि यह तकनीक पहले भी उपयोग होती रही है, लेकिन इसके चलते तैयार होने वाले डाटा की मात्रा बहुत अधिक होती है जिससे उसे समझना आसान नहीं होता था। इसी परेशानी से बचने के लिए शोधकर्ताओं ने ओसीटी को तैयार किया।