Australian Open के फ़ाइनल में पहुंची सानिया-बोपन्ना की जोड़ी

फीचर्डAustralian Open के फ़ाइनल में पहुंची सानिया-बोपन्ना की जोड़ी

Date:

अपने कैरियर का आखरी टूर्नामेंट खेल रही भारत की टेनिस सनसनी रही सानिया मिर्ज़ा ऑस्ट्रेलियन ओपन में रोहन बोपन्ना के साथ मिक्स्ड डबल्स के फ़ाइनल में पहुँच गयी हैं. सानिया अब अपने करियर को एक ग्रैंड समापन देने से सिर्फ एक मैच दूर हैं, अगर वो फाइनल में कामयाबी हासिल कर लेती हैं तो इससे बेहतर टेनिस से और कोई बिदाई हो नहीं सकती। सेमी-फ़ाइनल भारतीय जोड़ी ने ग्रेट ब्रिटेन की नील स्कूप्स्की और अमेरिका की देसीरा क्रॉज्जिक की जोड़ी को 7-6(5) 6-7(5) 10-6 से मात दी।

मिक्स डबल्स में अबतक तीन ग्रैंड स्लैम खिताब

सानिया मिर्ज़ा इससे पहले 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन का मिक्स डबल्स का खिताब चुकी हैं, तब उनके पार्टनर महेश भूपति थे, इसके बाद 2012 में भूपति के साथ सानिया ने फ्रेंच ओपन जीता। इसके बाद सानिया ने Bruno Soares के साथ मिलकर 2014 में यूएस ओपन का खिताब जीता। इस तरह सानिया के पास मिक्स डबल्स के तीन ग्रैंड स्लैम खिताब है, विंबलडन में वो 2022 में सेमि फ़ाइनल में पहुंची थी.

अबतक 6 ग्रैंड स्लैम खिताब

सानिया- बोपन्ना की जोड़ी ने मैच का पहला सेट 7-6 के अंतर से जीता था। दूसरे सेट में उन्हें 6-7 के अंतर से हार मिली लेकिन भारतीय जोड़ी ने फिर शानदार वापसी की और तीसरा सेट 10-6 के अंतर से जीतकर फाइनल में जगह बनाई। सानिया मिर्जा के नाम अब तक कुल छह ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं। सानिया ने अपने सन्यास का एलान इसी वर्ष 7 जनवरी को किया था तब कहा था कि फरवरी में दुबई WTA उनके कैरियर का आखरी टूर्नामेंट होगा लेकिन बाद में उन्होंने अपना फैसला बदलते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन को अपना आखरी टूर्नामेंट बताया था. उनका यह फैसला एकदम सही साबित हो रहा है, ऑस्ट्रेलियन ओपन में उन्होंने अबतक शानदार प्रदर्शन किया है.

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

Heart Broken: हॉकी वर्ल्ड कप में ख़त्म हुआ भारत का सफर

पूल मैचों में भारतीय हॉकी टीम ने जिस तरह...

Germany के राजदूत ने सीएम योगी से की मुलाकात

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आज यहां...

WFI Controversy: तो पीएम मोदी को सवा साल से मालूम थी WFI में चल रही गन्दी बातों की बात

भारतीय कुश्ती संघ के खिलाफ एक ओलम्पियन महिला पहलवान...