CBSE 12th Topper 2022: मेरठ की सुहानी ने सीबीएसई 12 वीं परीक्षा में बिजनेस स्टडी में मारी बाजी,पाए पूरे सौ फीसदी नंबर

 
CBSE 12th Topper 2022

मेरठ। सीबीएसई बोर्ड ने इंटरमीडिएट का परीक्षाफल शुक्रवार को घोषित कर दिया गया। मेरठ के दीवान पब्लिक स्कूल से इंटर की छात्रा सुहानी नारंग ने कक्षा 12 में 98:25 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। सुहानी नारंग ने बिजनेस स्टडी विषय में बेहतर प्रदर्शन करते हुए पूरे 100 अंक प्राप्त किए हैं। बाउंड्री रोड स्थित दीवान पब्लिक स्कूल की छात्रा सुहानी नारंग इंटरमीडिएट की परीक्षा में बिजनेस स्टड़ी की परीक्षा में पूरे सौ नंबर लाकर जिला टॉप किया है। परीक्षाफल देखने के बाद छात्रा सुहानी के शिक्षक व परिजनों में उत्साह है। सुहानी का कहना है कि बिजनेस स्टडी में पूरे 100 अंक लाने के पीछे उनकी शिक्षिका स्वाति सचदेवा का बहुत बड़ा योगदान है। वहीं बिजनेस बाइट की जब छात्रा सुहानी नारंग की शिक्षिका स्वाति सचदेवा से बात की गई तो उनका कहना था कि उन्होंने समय की कमी के कारण सुहानी को अलग से पढ़ाने के लिए मना कर दिया था। लेकिन जब उन्होंने सुहानी नारंग की इस विषय के पीछे उसकी लगन और जिद देखी तो वो उसको बिजनेस स्टडी विषय में उसका मार्गदर्शन करने के लिए तैयार हो गई। सुहानी नारंग भी कहती हैं कि आज उनके बिजनेस स्टडी में जो नंबर आए हैं वो स्वाति मैडम के मार्गदर्शन का नतीजा है। सुहानी कहती हैं कि बिजनेस स्टडी विषय में उनको पूरे मनोयोग से पढ़ाई करने और आगे का मुकाम हासिल करने के लिए स्वाति सचदेवा ने ही मार्गदर्शन किया। 

Read also: Yakub Qureshi News: पीएम मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर पूर्व मंत्री याकूब कुरैशी का गैर जमानती वारंट जारी

बता दें कि गत शुक्रवार को सीबीएसई बोर्ड ने इंटरमीडिएट का परीक्षा फल घोषित किया। परीक्षा फल घोषित होने के बाद विद्यालयों में छात्र व अभिभावक पहुंचने लगे। परीक्षाफल देखने के बाद छात्रों के चेहरों पर मुस्कान देखने को मिली। बिजनेस स्टडी में टॉपर सुहानी नारंग ने बिजनेस बाइट से हुई बातचीत में बताया कि उनका सपना सीए बनने का है। इसकी तैयारी वो खुद भी कर रही है। सुहानी ने बताया कि नवंबर में सीए एंट्रेस परीक्षा होनी है। उनका कहना है कि अभी वो खुद अपनी तैयारी कर रही है किसी कोचिंग संस्थान को उन्होंने ज्वाइन नहीं किया है। वह प्रतिदिन कम से कम पांच से छह घंटे की पढ़ाई कर रही है। सुहानी ने टॉप आने का श्रेय अपने माता-पिता सहित अपनी बिजनेस स्टडी की शिक्षिका स्वाति सचदेवा को दिया है। उन्होंने कहा कि वो आगे भी परिजनों और अपने विद्यालय के साथ अपनी शिक्षिका स्वाति का नाम रोशन करेंगी।