Thursday, October 28, 2021
Homeएजुकेशनतर्क और तर्क क्षमता पर केंद्रित होगी सीटीईटी परीक्षा

तर्क और तर्क क्षमता पर केंद्रित होगी सीटीईटी परीक्षा

नई दिल्ली, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। सीटीईटी परीक्षा में एनईपी के अनुसार बदलाव होगा। इस साल का सीटीईटी पेपर उम्मीदवार की समस्या समाधान, संकल्पनात्मक समझ, तर्क और तर्क क्षमता पर केंद्रित होगा। सीटीईटी परीक्षा के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो गई है। सीबीएसई सीटीईटी देश भर के प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती के लिए आयोजित की जाती है। देशभर से लाखों उम्मीदवार इस टेस्ट के लिए अपना पंजीकरण करेंगे।

सीबीएसई के मुताबिक सीटीईटी परीक्षा की पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद 16 दिसंबर से 13 जनवरी के बीच इसकी परीक्षा होगी। यह परीक्षाएं कंप्यूटर आधारित मोड में आयोजित की जाएगी। सीटीईटी परीक्षाओं में शामिल होने के इच्छुक छात्र 19 अक्टूबर तक अपना पंजीकरण कराने सकते हैं। पंजीकरण की यह प्रक्रिया 20 सितंबर से शुरू हो चुकी है। पंजीकरण की अंतिम तारीख के बाद भी 20 अक्टूबर तक छात्र परीक्षा शुल्क का भुगतान कर सकेंगे।

सीबीएसई के मुताबिक सीटीईटी परीक्षा के लिए आवेदन की पूरी प्रक्रिया आनलाईन रखी गई है। सीटीईटी परीक्षा पोर्टल पर पंजीकरण फॉर्म का लिंक एक्टिव कर दिया गया है। उम्मीदवारों को अपने विवरण भरकर पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। इसके बाद आवंटित किए गए पासवर्ड के माध्यम से लॉग-इन करके उम्मीदवार परीक्षा के लिए अपना पंजीकरण कर पाएंगे।

सरकारी और प्राईवेट विद्यालयों में शिक्षक बनने के लिए युवा उम्मीदवार सीटीईटी की परीक्षा देते हैं। नियम अनुसार सीबीएसई द्वारा आयोजित की जाने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा यानि सीटीईटी उत्तीर्ण होना जरूरी है।

सीबीएसई द्वारा सीटीईटी परीक्षा में दो प्रकार की परीक्षा आयोजित की जाती हैं। एक परीक्षा ऐसे उम्मीदवारों के लिए है जो प्राथमिक कक्षाओं यानी कक्षा एक से लेकर 5वीं तक की कक्षा में शिक्षक बनना चाहता हैं। ऐसे सभी छात्र उन्हें पहली परीक्षा में शामिल होंगे।

वहीं इसी कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाओं में अध्यापन के इच्छुक छात्र सीटीईटी की दूसरी परीक्षा में शामिल होंगे। वहीं कोई उम्मीदवार चाहे तो वह दोनों परीक्षा में ही शामिल हो सकते हैं।

–आईएएनएस

जीसीबी/आरजेएस

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

लेटेस्ट न्यूज़

ट्रेंडिंग न्यूज़