Site icon Buziness Bytes Hindi

CAA कानून के तहत पहली बार 14 लोगों को सौंपे गए नागरिकता प्रमाण पत्र

caa

गृह मंत्रालय ने बुधवार को नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के तहत 14 लोगों को नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपे। सीएए के तहत जारी प्रमाणपत्रों का यह पहला सेट है।

उनके आवेदन एक निर्दिष्ट पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन संसाधित होने के बाद केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने नई दिल्ली में प्रमाण पत्र सौंपे। गृह सचिव ने आवेदकों को बधाई दी और नागरिकता (संशोधन) नियम, 2024 की मुख्य विशेषताओं पर प्रकाश डाला।

CAA को, बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में प्रताड़ित किये गए गैर-मुस्लिम प्रवासियों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने के लिए दिसंबर 2019 में उन लोगों के लिए अधिनियमित किया गया था जो 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले भारत आए थे। इनमें मुसलमान छोड़कर सभी समुदाय जिनमें हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई शामिल हैं। कानून बनने के बाद, सीएए को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई लेकिन जिन नियमों के तहत भारतीय नागरिकता दी गई थी उसे ठन्डे बास्ते में दाल दिया गया था और अब चार साल से ज़्यादा समय के बाद जब लोकसभा चुनाव नज़दीक आया तब 11 मार्च को जारी किया गया।

गौरतलब है कि CAA से भारत के नागरिकों पर कोई असर नहीं पड़ेगा. इसे केवल पड़ोसी देशों पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के छह अल्पसंख्यकों को लाभ पहुंचाने के लिए पेश किया गया था।

Exit mobile version