क्रेडिट कार्ड के जरिए पैसा डालने पर लगी रोक

 
क्रेडिट कार्ड के जरिए पैसा डालने पर लगी रोक
बाजार:- फिटनेस स्टार्टअप को एक बार पुनः आरबीआई ने चेतावनी दी है। आरबीआई नॉन-बैंकिंग क्षेत्र के प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स यानी पीपीआई (PPI) इश्यूअर्स से कहा है कि फिटनेस स्टार्टअप अपने वॉलेट और कार्ड में पैसा क्रेडिट सुविधा के जरिए न डालें। जानकारी के लिए बता दें वालनट और प्रीपेड कार्ड पीपीआई से जुड़े हैं। आरबीआई ने प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स पर ‘मास्टर’ डायरेक्शंस जारी किया और कहा कि फिटनेस स्टार्टअप अब से वॉलेट या प्रीपेड के माध्यम से न डाले।
यदि कोई पैसा डाल रहा है तो उसे आरबीआई ने पीपीआई को कैश, बैंक अकाउंट, क्रेडिट और डेबिट कार्ड, पीपीआई और अन्य पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स द्वारा ‘लोड’ एवं ‘रिलोड’ करने की मंजूरी दी गई है। वही कहां है कि वह सिर्फ भारतीय मुद्रा होनी चाहिए। सूत्रों ने कहा कि आरबीआई ने सभी अधिकृत नॉन-बैंक पीपीआई इश्यूअर्स को इस प्रतिबंध के संबंध में सूचित कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक, आरबीआई ने पीपीआई इश्यूअर्स से कहा है कि मास्टर डायरेक्शंस पीपीआई को क्रेडिट सुविधा से ‘लोड’ करने की मंजूरी नहीं देता है. उसने कहा है कि अगर ऐसा चलन जारी है तो उस पर फौरन रोक लगाई जाए।
आरबीआई के इस निर्णय पर विशेषज्ञयों का कहना है कि क्रेडिट सुविधा के जरिए पैसे डालने पर रोक लगा दी गई है. उन्होंने कहा, ‘एक क्रेडिट सुविधा का इस्तेमाल कई प्रीपेड वॉलेट और कार्ड के लिए किया जाता था. इस कदम से कुछ फिनटेक कंपनियों के कारोबारी मॉडल पर असर पड़ेगा।