depo 25 bonus 25 to 5x Daftar SBOBET

Budget पर भाजपा ने कहा, वाह! मोदी जी

पॉलिटिक्सBudget पर भाजपा ने कहा, वाह! मोदी जी

Date:

केंद्र की मोदी सरकार ने वित्त वर्ष 2023 के लिए एक लोकलुभावन बजट पेश कर दिया है जिसमें समाज के हर तबके का ख्याल रखा गया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लम्बे बजट भाषण के बाद अब बजट को लेकर प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गयी हैं. भाजपा नेताओं द्वारा इस बजट को हाथो हाथ लिया गया है, पार्टी के कई मंत्रियों ने बजट को ऐतिहासिक बताया है वहीँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि इस बजट से समाज के हर तबके को बड़ा फायदा पहुंचेगा।

ग्रामीण विकास की धुरी

प्रधानमंत्री कहा की यह यह बजट ग्रामीण विकास की धुरी है. डिजिटल भुगतान अब कृषि क्षेत्र में भी देखने को मिलेगा. ईज ऑफ लीविंग को बढ़ावा देगा यह बजट, साथ ही देश की बहुत बड़ी आबादी को रोजगार भी इस बजट से उपलब्ध होगा। प्रधान मंत्री ने कहा कि यह अमृतकाल का पहला बजट है और इस बजट से विकसित भारत के संकल्प की पूर्ति के लिए आधार प्रदान होगा.

‘सुपर फूड’ को अब ‘श्री अन्न’ का नाम

प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट में वंचित वर्ग को प्राथमिकता दी गई है. ‘सुपर फूड’ को अब ‘श्री अन्न’ के नाम से नई पहचान दी गई है. महिलाओं के लिए एक विशेष बचत योजना इस बजट में है. नए प्राइमरी कॉपरेटिव्स बनाने के लिए एक महत्वकांक्षी योजना भी है. यह बजट विकसित भारत के विराट संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा.उन्होंने बजट के लिए निर्मला सीतारमण और उनकी टीम को बधाई दी. वहीँ हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने तो बजट पर ज़बरदस्त प्रतिक्रिया दी है. खट्टर ने कहा -वाह मोदी जी. 7 लाख तक इनकम टैक्स में छूट मध्यम और नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ी राहत है. अब ऐसा ही बजट हरियाणा की जनता के लिए भी तैयार किया जाएगा.

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

सातवें चरण तक जनता का गुस्सा सातवें आसमान पर होगा, अखिलेश यादव

लालगंज में आज चुनावी सभा में अखिलेश यादव ने...

यूपी में सुबह 9 बजे तक 12.33% मतदान, अम्बेडकरनगर सबसे आगे

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में आज उत्तर प्रदेश...

ओडिशा की गरीबी देख पीएम मोदी के दिल में दर्द होता है

प्रधानमंत्री मोदी ने आज ओडिशा में एक चुनावी रैली...

क्या ये चुनावी मौसम के बदलते मिज़ाज की झलक है

अमित बिश्नोईक्या इसे बदलते चुनावी मौसम का बदलता मिज़ाज...