ईवीएम में बंद हुई इन दिग्गजों की किस्मत,10 मार्च को फैसले पर लगी नजर

विधानसभा चुनावईवीएम में बंद हुई इन दिग्गजों की किस्मत,10 मार्च को फैसले पर...

Date:


ईवीएम में बंद हुई इन दिग्गजों की किस्मत,10 मार्च को फैसले पर लगी नजर

मेरठ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव-2022 (Assembly Election 2022) – प्रदेश में दूसरे चरण के मतदान के तहत 14 फरवरी को 9 जिलों की 55 सीटों पर मतदान हुआ। इन जिलों में भाजपा सरकार और पूर्व सपा सरकार के कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। 14 फरवरी को हुए मतदान में इन दिग्गजों की किस्मत को मतदाताओं ने ईवीएम का बटन दबाकर उसमें बंद कर दिया। अब सबकी नजरें 10 मार्च को आने वाले चुनावी नतीजों पर लगी हुई हैं।

दूसरे चरण के तहत जिन जिलों में मतदान हुआ उनमें सहारनपुर के अलावा मुरादाबाद,रामपुर,और अमरोहा, बिजनौर, संभल,बरेली, शाहजहांपुर और बदायूं शामिल हैं। इन 55 सीटों पर 586 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर हैं।
जिन दिग्गजों का भाग्य ईवीएम में बंद हुआ है। उनमें भाजपा सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, बरेली से जल शक्ति मंत्री बलदेव औलख व मंत्री गुलाबो देवी शामिल हैं। वहीं पूर्व सपा सरकार में मंत्री रहे और वर्तमान में जेल में बंद आजम खां के अलावा कमाल अख्तर पूर्व मंत्री महबूब अली शामिल हैं। वहीं भाजपा सरकार से त्यागपत्र देकर सपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री धर्मपाल सिंह सैनी का भी राजनैतिक करियर दांव पर हैं।

Read also: भाजपा सरकार के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने दिया इस्तीफा, अखिलेश से मिले

इस चरण में चुनाव लड़ रहे योगी के मंत्री सुरेश खन्ना पर भी सबकी निगाहें हैं। वर्ष 2017 में सुरेश खन्ना ने अपने प्रतिद्वंदी को 16 हजार से अधिक वोटों से हराया था। इस बार योगी के इस मंत्री के लिए राह आसान नहीं है। सपा व आरएलडी गठबंधन से सुरेश खन्ना की सीधी टक्कर मिल रही है। गठबंधन से शाहजहांपुर की सदर सीट पर सपा के तनवीर खान योगी के इस मंत्री को कड़ी चुनौती दे रहे हैं।बरेली की आंवला सीट पर भाजपा ने धर्मपाल सिंह को टिकट दिया था। वह 2017 में भाजपा की लहर में चुनाव जीते थे। लेकिन इस बार उनको सपा से कड़ी चुनौती मिल रही है। सपा के राधाकृष्ण शर्मा ने भी अपनी जीत का दावा किया है।

रामपुर में आजम परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर :

इस बार रामपुर में भी कांटे की लड़ाई है। इस लड़ाई में आजम परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। आजम खां सपा के दिग्गज नेता माने जाते हैं और इस समय जेल में बंद हैं। आजम खान जेल से ही चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में उनके लिए चुनौतियां और बढ़ी हुई हैं। आजम खान के खिलाफ भाजपा से आकाश सक्सेना मैदान में हैं। रामपुर की सदर विधानसभा सीट पर आजम खान का जलवा रहा है।

Read also: प्रियंका ने हस्तिनापुर में किया प्रचार,महंगाई पर मोदी और योगी सरकार को घेरा

गुलाबो देवी ने किया कमल खिलाने का दांवा :

2017 में बनी योगी सरकार में मंत्री बनी गुलाबो देवी संभल जिले की चंदौली विधानसभा सीट से मैदान में हैं। इलाके में मजबूत पकड़ वाली गुलाबो देवी के लिए जीत इस बार आसान नहीं दिखाई दे रही है। उनकी जीत इस बार त्रिकोणीय मुकाबले में फंसी हुई है।

चुनाव से ठीक पहले भाजपा छोड़कर सपा में शामिल हुए योगी सरकार के मंत्री धर्म सिंह सैनी सहारनपुर के नकुल विधानसभा से प्रत्याशी हैं। भाजपा ने धर्म सिंह सैनी के खिलाफ मुकेश चौधरी को उतारा है। दोनों के बीच कड़ी टक्कर मानी जा रही है।…..

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related

Swami Prasad Murya की बेटी की सफाई, भाजपा से ही लड़ेगीं चुनाव

रामचरित मानस विवाद से इन दिनों निशाना बने समाजवादी...

Caste System: जातियां पंडितों ने बनाई, भगवान ने नहीं: संघ प्रमुख

रामचरित मानस पर बढ़ते विवाद के बीच राष्ट्रीय स्वयं...

Vinod Kambli ने कुकिंग पैन से पत्नी पर किया हमला, रिपोर्ट दर्ज

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के सखा और टीम के...