Site icon Buziness Bytes Hindi

Akhilesh का आरोप, महोत्सवों की चकाचौंध में छुपाया जा रहा है भाजपा का भ्रष्टाचारी तंत्र

akhilesh

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज भाजपा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि वो और उसके उद्योगपति मित्र पिछले 6 सालों से जनता को लूटने की नई-नई तरकीबों को खोजने में लगे हुए हैं लेकिन उनके भ्रष्टाचार का यह बोझ जनता अब बर्दाश्त करने वाली नहीं, वो इन लोगों की होशियारी को समझ चुकी है, भाजपा और उनके मित्रों के झूठे दावों की पोल खुल रही है. लोग अब समझ रहे हैं कि भाजपा सरकार के रहते न तो जनता का भला हो सकता है और नहीं कोई विकास हो सकता है।

सड़कों का बुरा हाल

अखिलेश ने विकास के दावों पर सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा राज में सड़के बनी नहीं हैं, जो बनी हैं वहां भी गड्ढे भरे पड़े हैं लेकिन जनता से टोलटैक्स वसूली लगातार चल रही है। उन्होंने कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश में सड़कों का बुरा हाल है। आज की बनी सड़क कल उधड़ जाती है. ग्लोबल इन्वेस्टमेंट समिट पर कटाक्ष करते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि बाहर से आने वालों के लिए शहर के मुख्य मार्ग तो फूलों और रंगबिरंगी चाईनीज झालरों से सजा दिया लेकिन बाकी शहरवासी अपनी किस्मत पर रोते रहे। उन्होंने कहा कि यहाँ तक कि मुख्यमंत्री आवास से ठीक सामने की हजरतगंज जाने वाली पार्क रोड सड़क इन महोत्सवों में भी वीरान पड़ी रही। वहां न तो सफाई हुई और न पुताई और न ही सड़क की मरम्मत हुई।

भ्रष्टाचार से भरी कहानियां

अखिलेश ने कहा कि विक्रमादित्य मार्ग की सड़क का भी बुरा हाल है, गाड़ियों में बैठे लोगों को झूले का एहसास होता है। कभी भी कोई सड़क दुर्घटना हो सकती है। अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन सड़क का निर्माण कार्य चल तो रहा हैं, कब पूरा होगा पता नहीं? लेकिन उद्योगपति मित्रों के लिए बेलीपार के पास टोल प्लाजा बनकर तैयार है। बस्ती में बनी बनाई पुलिया के निर्माण के लिए पीडब्लूडी ने दुबारा धन स्वीकृत करा लिया। उन्होंने कहा कि सत्ता संरक्षण में भ्रष्टाचार की ऐसी अनेक कहानियां है। भाजपा का भ्रष्टाचारी तंत्र दिन दूना रात चौगुना बढ़ रहा है जिसे महोत्सवों की चकाचौंध में होशियारी से छुपाने की साजिशें हो रही हैं।

Exit mobile version