Gujarat Chunavi Dangal: गुजरात में ड्रग्स और शराब के माफियाओं को कौन दे रहा है संरक्षण, राहुल-प्रियंका का सवाल

 
राहुल-प्रियंका

Gujarat Chunavi Dangal - गुजरात में चुनावी साल चल रहा और इस चुनावी वर्ष में जब सत्ताधारी पार्टी जनता केबीच अपनी उपलब्धियां बताने में जुटी होती है, इन दिनों में अपने बचाव में जुटी हुई है. पिछले दिनों शराब से हुई दर्जनों मौतों और गुजरात के बंदरगाहों पर मिल रहे हज़ारों करोड़ के ड्रग्स पर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस सत्ताधारी भाजपा पर काफी हमलावर है, प्रदेश में अपनी पैठ बना रही आम आदमी पार्टी भी पीछे नहीं। इसी मुद्दे पर कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी ने गुजरात सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल किया है कि ये कौन लोग हैं जो ड्रग्स और शराब के माफियाओं को संरक्षण दे रहे हैं।

राहुल गाँधी ने सवाल किया कि गुजरात के युवाओं को नशे में क्यों धकेला जा रहा है? डबल इंजन की इस सरकार में वो कौन से लोग बैठे हैं जो लगातार ड्रग्स-शराब माफिया को संरक्षण दे रहे हैं? राहुल ने एक अन्य ट्वीट में दो सवाल पूछे. पहला यह कि एक ही पोर्ट पर तीन बार ड्रग्स मिलने के बावजूद उसी पोर्ट पर ड्रग्स लगातार कैसे उतर रही है? दूसरा सवाल यह कि क्या गुजरात में माफिया को कानून का कोई डर नहीं? क्या प्रदेश में कानून व्यवस्था ख़त्म हो गयी है? या फिर ये माफिया की सरकार है?

Read also: गुजरात चुनावी दंगल: साणंद सीट पर होगी अमित शाह की परीक्षा

वहीँ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में कहा कि एक ही पोर्ट से 3 बार में 22 हज़ार करोड़ का ड्रग्स बरामद हुआ। इसे बावजूद भी सरकार चुपचाप है, सारी सरकारी एजेंसियां सन्नाटे में हैं. सरकार की नाक के नीचे से माफिया पूरे देश में ड्रग्स का ज़हर फैला रहे हैं । प्रियंका ने पूछा कि क्या व्यवस्था असहाय है या फिर यह माफिया से मिलीभगत है? बता दें कि पिछले एक साल में गुजरात के बंदरगाहों से ड्रग्स बरामदगी के मामले काफी बढ़ गए है और ड्रग्स की यह खेपें सैकड़ों, हज़ारों करोड़ की होती हैं. पिछले साल सितंबर में मुंद्रा बंदरगाह पर 21,000 करोड़ रुपये की हेरोइन पकड़ी गई थी जोकि देश में पकड़ी गई अबतक की सबसे बड़ी ड्रग्स सप्लाई मानी जाती है।