Noida Film City में जान फूंक रहे थे राजू, मुंबई फिल्मसिटी में काम नहीं मिलने का छलका था दर्द

 
noida

ग्रेटर नोएडा। हास्य अभिनेता राजू श्रीवास्तव के रूप में देश ने एक प्रतिभावान कलाकार को खो दिया। राजू श्रीवास्तव ने हास्य कलाकार के रूप में अपनी पहचान बनाई थी। लेकिन उनके दिल में फिल्म जगत से मिले अनुभव और दर्द को वह छुपा नहीं पाते थे। यही कारण है कि जब यमुना एक्सप्रेसवे फिल्म सिटी की निर्माण की बात आई तो वो उत्तर प्रदेश विकास परिषद के अध्यक्ष के रुप इससे जुड़े। इस दौरान राजू श्रीवास्तव कई बार ग्रेटर नोएडा फिल्म सिटी की समीक्षा के लिए आए भी थे। अधिकारियो के साथ उन्होंने बैठक के बाद फिल्म सिटी की साइट का निरीक्षण किया था। 

उत्तर प्रदेश विकास परिषद के अध्यक्ष के रुप राजू श्रीवास्तव पिछले साल 10 फरवरी को ग्रेटर नोएडा फिल्म सिटी की प्रगति समीक्षा करने के लिए आए थे। राजू श्रीवास्तव ने उस दौरान बातचीत करते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में उन प्रतिभाओं सपने को सच करने मौका दिया जो प्रतिभाएं मुंबई में काम के लिए भूखे प्यासे भटकती है। उन्होंने कहा था कि यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बनने वाली फिल्म सिटी से ऐसे कलाकारों को घर बैठे रोजगार और अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। 

उन्होंने कहा था कि मुंबई, चेन्नई,हैदराबाद में फिल्म सिटी है। लेकिन उत्तर प्रदेश में इसके बनाये जाने से क्यो होहल्ला मच रहा है। उन्होंने कहा था कि मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को यहां शिफ्ट नहीं किया जा रहा है। बल्कि फिल्म इंडस्ट्री की सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। जहां लोगों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी वो वहीं पर जाएंगे। यमुना प्राधिकरण में विकसित हो रही फिल्म सिटी में फिल्म निर्माण की सभी सुविधाएं होगी। प्री से लेकर पोस्ट प्रोडक्शन का काम भी यहीं होगा।  राजू श्रीवास्तव को मुंबई फिल्म सिटी में मौका न मिलने के दर्द और अपने अनुभव को छिपा नहीं पाये थे। राजू ने कहा था कि प्रदेश में प्रतिभाएं मुंबई में काम के लिए भूखे-प्यासे भटक रहे हैं। फिल्म सिटी उनके सपनों को सच करेगी। लेकिन फिल्म सिटी के निर्माण के सपने पूरा होने से पहले ही राजू श्रीवास्तव दुनिया से रुखसत हो गये.